Wednesday, 11 October 2017

देखे दुनिया का पहला Transparent Mobile Phone

पॉलिट्रॉन ने बनाया विश्व का पहला पारदर्शी मोबाइल फोन


एक पारदर्शी मोबाइल फोन की अवधारणा नयी नहीं है। हमने पहले भी बहुत सी फिल्में और टीवी शो में देखा है। हालांकि, पॉलिट्रॉन ने अब एक पारदर्शी मोबाइल फोन का एक काम प्रोटोटाइप बनाया है।

पॉलिट्रॉन, ताइवान स्थित कंपनी ने एक फोन बनाया है जो पूरी तरह से पारदर्शी है और केवल सर्किट बोर्ड, मेमरी कार्ड और कैमरा यूनिट दिखाई दे रहा है। यह एक टचस्क्रीन फोन है जिसमें पूरी तरह से कार्यात्मक सिम ट्रे, एसडी कार्ड स्लॉट, माइक्रोफोन और कैमरा है। हालांकि, फोन में अभी तक एक ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं है। 


फोन में इस्तेमाल होने वाली तकनीक को पॉलिविजन गोपनीय ग्लास कहा जाता है। यह एक उपकरण को पारदर्शी बनाने की अनुमति देता है, जब एक विद्युत प्रवाह उसके माध्यम से पारित हो जाता है। उन्होंने सूक्ष्म तारों का उपयोग भी किया है जिन्हें सीधे कांच में सीधे लगाया गया है जिससे यह नग्न आंखों से मुश्किल लस दिखाई देता है। हमने सोनी XPERIA Z, XPERIA P और XPERIA यू पर ग्लास पट्टी में समान देखा है।


Read In English

The idea of a straightforward cell phone is just the same old thing new. We've seen it in innumerable science fiction motion pictures and TV appears. Be that as it may, Polytron has now made a working model of a straightforward cell phone.


Polytron, a Taiwan based organization has made a telephone that is completely straightforward and just the circuit board, memory card and camera unit is noticeable. It is a touchscreen telephone that has a completely utilitarian SIM plate, SD card opening, mouthpiece and camera. Be that as it may, the telephone does not yet have a working framework.

The innovation being utilized as a part of the telephone is called Polyvision Privacy Glass. It enables a gadget to turn straightforward when an electric current is gone through it. They've likewise utilized infinitesimal wires that have been encouraged specifically into the glass that make it scarcely unmistakable to the exposed eye. We've seen comparative cases in the glass strip on the Sony XPERIA Z, XPERIA P and XPERIA U.

No comments:

Post a Comment

loading...