Saturday, 20 January 2018

बवाना कांड पर बढ़ी सियासत... तो 50 हजार फैक्ट्रियों पर आएगी आफत!

आग से झुलसकर 17 लोगों की मौत
राजधानी दिल्ली से साल-दर साल आग की खबरें आती रहती हैं, लेकिन शनिवार शाम बवाना इंडस्ट्रियल एरिया में जो घटना हुई उसने सबको हिलाकर रख दिया. एक पटाखा फैक्ट्री में आग लगने से 17 बेकसूर मजदूरों की मौत हो गई. हादसे के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी घटनास्थल पहुंचे तो इस पर राजनीतिक बयानबाजी भी होने लगी. सरकार ने जांच के आदेश दिए और बीजेपी भी बयानों से सख्त नजर आ रही है. ऐसे में सवाल ये है कि क्या इलाके में चल रहीं 50 हजार अवैध फैक्ट्रियों पर गाज गिरेगी?

दरअसल, अवैध फैक्ट्रियों की ये संख्या दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने ट्वीट करते हुए गंभीर सवाल भी उठाए हैं. स्वाती ने ट्वीट में लिखा है, 'हाथ पे जलते हुए तेल की बूंद पड़े तो इंसान तिलमिला जाय. बवाना में 17 लोग जल के मरे, उन्होंने अपने आखरी पलों में नर्क झेला. कौन जिम्मेदार है इस परिस्थिति के लिए? बता रहे हैं 50,000 ऐसी अवैध फैक्ट्री बवाना में चल रही हैं. ऐसा नहीं हो सकता कि ये सिस्टम के मिलीभगत के बिना चल रही हो.

स्वाती मालीवाल ने अवैध फैक्ट्रियों पर सिस्टम की मिलीभगत से चलने का आरोप लगाया है. दरअसल, जिस पटाखा फैक्ट्री में आग लगी है, उससे जुड़ी जानकारी में भी लापरवाही और नियमों के उल्लंघन की बात सामने आ रही है. बताया जा रहा है कि फैक्ट्री को गुलाल बनाने का लाइसेंस मिला है, लेकिन यहां पटाखों की पैकिंग हो रही थी. साथ ही फैक्ट्री को फायर सेफ्टी का एनओसी भी नहीं मिला हुआ है.

ये तमाम सवाल हैं जिन्हें लेकर आम आदमी पार्टी और बीजेपी के बीच खींचतान चल रही है. एमसीडी में बीजेपी की सत्ता है और दिल्ली सरकार आम आदमी पार्टी चला रही है. ऐसे में दोनों के बीच घटना के बाद से ही आरोप-प्रत्यारोप चल रहे हैं.



वहीं, आम आदमी पार्टी से निकाले गए कपिल मिश्रा भी इस लड़ाई में कूद आए हैं. उन्होंने स्वाती मालीवाल के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए केजरीवाल सरकार को घेरा है. उन्होंने लिखा है, '50,000 अवैध फैक्ट्री??? ये तो दिल्ली सरकार के DSIIDC का औद्योगिक क्षेत्र है. ये तो अरबों रुपयों का घोटाला है. जिंदगियों से खिलवाड़ भी.'

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने भी केजरीवाल सरकार और मंत्री सत्येंद्र जैन को जमकर कोसा है. उन्होंने कहा है कि यह दिल्ली सरकार का औद्योगिक क्षेत्र है और यहां की फैक्ट्रियां उन्हीं के अधिकार के तहत आती हैं. ऐसे में यहां जो भी काम हो रहा है उसकी जवाबदेही दिल्ली सरकार की है.
वहीं दूसरी तरफ नॉर्थ एमसीडी की मेयर और बीजेपी नेता प्रीति अग्रवाल का एक वीडियो वायरल हो रहा है. घटनास्थल के बाद मीडिया को संबोधित करते वक्त वो अपने पास खड़े नेताओं से कुछ फुसफुसाते हुए सुनाई दे रही हैं. इसमें वो कहती सुनाई दे रही हैं कि फैक्ट्री की लाइसेंसिंग हमारे पास है, इसलिए हम कुछ नहीं बोल सकते.

हालांकि, दिल्ली सरकार ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं. वहीं दिल्ली पुलिस ने फैक्ट्री के एक मालिक को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि एक फरार बताया जा रहा है. ऐसे में अब देखना होगा कि क्या दिसंबर में 1 अबव पब में आग लगने के बाद मुंबई में बीएमसी का बुल्डोजर 300 से ज्यादा अवैध निर्माणों पर चला था, वैसी कोई तस्वीर एक्शन के नाम पर बवाना इंडस्ट्रियल एरिया से सामने आती है या नहीं?

Source -आजतक 

No comments:

Post a Comment

loading...